अपना अहंकार छोड़ो

0
16

विनम्र रहने का प्रयास करें। हमेशा खुद को सही साबित करने की कोशिश न करें। हमेशा विजेता होने का विचार भी छोड़ दें। कभी अगर विवाद की स्थिति है तो अपने साथी का पक्ष बहुत शांति के साथ सुनना आपके जीवन में सुलह और सहजता लाने में मदद करेगा। जब हम अहं से मुक्त होते हैं तो हम अधिक सजग होते हैं। सजगता की स्थिति में ही हम दूसरों के भावों को अनुभूत करने लगते हैं। केवल तभी हम अपने गुस्से पर नियंत्रण कर पाते हैं और अपने साथी के साथ जुड़ने में सफल होते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here