सरकार द्वारा पत्रकार सुरक्षा विधेयक नही लाया गया जिससे पत्रकारों का मनोबल गिरता जा रहा है

0
15

भारत मे अभी तक किसी भी सरकार द्वारा पत्रकार सुरक्षा विधेयक नही लाया गया जिससे पत्रकारों का मनोबल गिरता जा रहा है। कही न कही पत्रकारों पर आये दिन अत्याचार होते रहते हैं किसी पत्रकार कों गोली का शिकार होना पडता है। 2019 के लोकसभा चुनाव में जो भी पार्टी अपने चुनावी घोषणा पत्र में पत्रकार की सुरक्षा के लिए विधेयक लाएगी सभी पत्रकार उसी पार्टी को वोट देगें पत्रकार दिन रात मेहनत करके सरकार की कार्य योजना को जनता तक पहुचाते है और जनता की बात को शासन व प्रशासन तक पहुचाते है अगर किसी माफिया के खिलाफ कोई समाचार प्रकाशित करता है तो वो रसूखदारो से किसी झुठे आरोप मे मुकदमा दर्ज कराकर जेल भिजवा देता है या उसे अपनी जान से हाथ धोना पडता है 2019 लोकसभा चुनाव में जो भी पार्टी पत्रकार सुरक्षा विधेयक लाएगी पत्रकार उसी पार्टी को ही वोट व सपोर्ट करेगा पत्रकार पर झूठा मुकदमा दर्ज करने वाले अधिकारी को सस्पेंड कर के जेल भेजा जाए जो सूचना कार्यालय में 2 वर्ष से पंजीकृत है उसे सरकारी बस मे फ़्री यात्रा व उसके परिवार को फ़्री चिकित्सा व उसके बच्चो को फ़्री शिक्षा मिलनी चाहिए पत्रकार को हर माह पैंशन की व्यवस्था होनी चाहिए जिस पत्रकार का अपना आवास ना हो उसे प्राथमिकता से पत्रकार आवास आवंटित किये जाए। जिस पत्रकार के आवास की कच्ची छत हो उसके पक्का आवास बनाकर दिया जाए पत्रकारो को सस्ती दरों पर सरकारी ऋण उपलब्ध कराया जाए पत्रकार दुर्घटना बीमा केंद्र व राज्य सरकार द्वारा दिया जाए जो भी पार्टी अपने चुनावी घोषणा पत्र में लाएगी उसी पार्टी को सभी पत्रकार एक मत होकर वोट करेगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here