अधेड़ का शव पहुंचा सूडान से घर

0
20

जौनपुर। सूडान में 12 जनवरी को संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के एक सप्ताह बाद जफराबाद थाना क्षेत्र के मोथहा गांव निवासी रामसिंह निषाद (56) का शव रविवार को घर पहुंचा। परिजनों ने हत्या का आरोप लगाते हुए यहां दोबारा पोस्टमार्टम कराने की मांग को लेकर शव के साथ थाने पहुंच गए। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराने से इनकार किया तो परिवार के लोग जिलाधिकारी के पास पहुंच गए। डीएम के निर्देश पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक के परिजनों का आरोप है कि उन्होंने मौत से पहले ही हत्या की आशंका जताते हुए घर पर पत्र भेजा था।
मृतक राम सिंह के पुत्र सचिन ने बताया कि 12 जनवरी को दिन में  १२ बजे  पिता ने फोन कर कहा था कि अब मैं घर वापस नहीं आ पाऊंगा। इतना कहने के बाद फोन कट गया तो दोबारा बात नहीं हो सकी। करीब तीन घंटे बाद मुंबई से पिता जी के दोस्त ने उनकी मौत की सूचना दी। सचिन ने सूडान में स्थित उस आइस कम्पनी में फोन किया तो बताया गया कि राम सिंह ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। शव दिल्ली भेजा जा रहा है। वहां एयरपोर्ट पर जाकर शव ले लीजिए।सूचना पर सचिन परिवार के अन्य सदस्यों के साथ दिल्ली पहुंचा जहां से शव लेकर रविवार को सुबह घर पहुंचा। परिवार के लोग सुबह करीब नौ बजे शव लेकर जफराबाद थाने पहुंच गए और पोस्टमार्टम कराने की मांग करने लगे। सचिन ने पुलिस को बताया कि उनके पिता ने 15 नवंबर को ही पत्र भेजकर अपनी हत्या की आशंका जताई थी। इस नाते उनके  शव का पोस्टमार्टम यहां कराया जाना जरूरी है।
परिजनों का आरोप है कि जिस कंपनी में राम सिंह काम करते थे उस कंपनी का मालिक मुंबई में रहता है। उसका मालिक जह मुंबई से सूडान गया था उसी वक्त राम सिंह की मौत की खबर आई थी। जफराबाद थानाध्यक्ष पर्व कुमार सिंह ने कहा कि सूडान में शव का पोस्टमार्टम हुआ है वहां की रिपोर्ट के मुताबिक फांसी लगाने से मौत हुई है। जबकि मृतक के परिजनों का कहना है कि हत्या करने वालों ने उन्हें फांसी पर लटकाकर मार डाला होगा। डीएम के निर्देश पर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here