राष्ट्रीय फाइलेरिया दिवस कार्यक्रम तीन चरणों में

0
11

जौनपुर । राष्ट्रीय फाइलेरिया दिवस कार्यक्रम 2018-19 के अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ रामजी पांडेय ने बताया कि यह कार्यक्रम 10 से 24 फरवरी 2019 तक 3 चरणों में चलाया जा रहा है। कार्यक्रम के अंतर्गत दवा खाली पेट नहीं खाना है इसके साथ ही 02 वर्ष से कम उम्र के बच्चों, गर्भवती महिलाओं एवं अत्यधिक बीमारी वृद्ध लोगों को दवा का सेवन नहीं करना है। 02 वर्ष से 05 वर्ष तक के बच्चों को 100 मिलीग्राम खुराक या एक गोली, 05 से 15 वर्ष तक के लिए 200 मिलीग्राम या 02 गोली तथा 15 से अधिक वर्ष के पुरुष/महिला वर्ग के लोगों को 300 मिलीग्राम या तीन गोली का सेवन करना है, इसके साथ ही एल्बेंडाजॉल की एक गोली, 400 मिलीग्राम का सेवन करना है। 10 फरवरी 2019 को बूथ का आयोजन शहरी/ग्रामीण क्षेत्रों में किया जाएगा। 11 से 15 फरवरी 2019 तक दवा का वितरण घर-घर जाकर प्रत्येक दिन ढाई सौ लाभार्थियों को अपने सामने दवा खिलाया जाएगा। 16 से 24 फरवरी 2019 तक छूटे हुए लाभार्थियों को माप अप राउंड के दौरान वितरक द्वारा दवा खिलाया जाएगा। समस्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र/प्राथमिक स्वास्थ्य सामुदायिक केंद्र/स्वास्थ्य केंद्र एवं जिला पुरुष/महिला चिकित्सालय तथा जिला क्षय रोग चिकित्सालय जौनपुर में स्टैटिक बूथ स्थापित किए जाएंगे, जहां 10 से 24 फरवरी 2019 तक दवा खिलाया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि राज मुख्यालय से इस कार्यक्रम हेतु 10464000 डीईसी तथा 3378000 एल्बेंडाजॉल गोली आवंटित की गई है। इस कार्यक्रम के सफल संचालन/क्रियान्वयन हेतु जनपद में 3356 दवा वितरण द्वारा दवा का वितरण किया जाएगा। जिलाधिकारी अरविंद मलप्पा बंगारी के निर्देशन में संचारी रोग नियंत्रण अभियान 2019 के तहत जनपद स्तर पर समन्वय समिति की विभिन्न बैठकों के माध्यम से विभिन्न विभागों के माध्यम से इस दिशा में किए जाने वाले कार्यों का निर्धारण किया जा चुका है, जिसमें प्रमुख रूप से चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, नगर विकास विभाग, पंचायती राज विभाग, पशुपालन विभाग, महिला एवं बाल विकास, शिक्षा विभाग, दिव्यांगजन सशक्तिकरण, समाज कल्याण विभाग, कृषि विभाग एवं सिंचाई विभाग एवं सूचना विभाग को भागीदार बनाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here